राष्ट्रीय कैडेट कोर  
एकता और अनुशासन

   राष्ट्रीय कैडेट कोर का राष्ट्रीय आन्दोलनों में गौरवपूर्ण एवं अविस्मरणीय योगदान है। किसी भी राष्ट्र के सर्वांगीण विकास के लिए उसके नागरिकों में एकता एवं अनुशासन का होना सर्वोपरि व अनिवार्य है। देश के युवाओं में में अनुशासन, धर्ननिरपेक्षता, सद्भावना, चरित्र, साहचर्य, नेतृत्व की क्षमता, निस्वार्थ सेवाभाव, देशभक्ति की भावना सशस्त्र सेनाओं में कैरियर बनाने के लिए युवाओं को प्रेरित करने हेतु उचित वातावरण प्रदान करना आदि गुणों को विकसित करना एन0सी0सी0 का मूल उद्देश्य है ताकि छात्र जीवन से ही बालक देश प्रेम, सेवा एवं बलिदान की भावना से ओतप्रोत एवं प्रेरित होकर आदर्श नागरिक बनें एवं सदैव समाजोपयोगी कार्यों का निर्वहन करें। 
     विद्यालय में राष्ट्रीय कैडेट कोर का शुभारम्भ 25 जुलाई सन् 1963 में हुआ। प्रारंभ में एक प्लाटून की स्वीकृति प्राप्त हुई जिसमें 60 कैडेट्स ने प्रशिक्षण प्राप्त किया तथा वर्ष 1965-56 में प्रथम ग्रुप बी0 एवं सी0 सर्टीफिकेट्स परीक्षा में सम्मिलित हुआ। प्रथम एनसीसी अधिकारी के रूप में पूर्व प्रधानाचार्य कै0 डी0डी0तिवाड़ी जी को दायित्व सौंपा गया। कैप्टन तिवाड़ी साहब ने 31 जनवरी 1980 तक सेकिण्ड लेफ्टिनेंट से कैप्टन रैंक तक 16 वर्ष 05 माह 24 दिन एन0सी0सी0 अधिकारी के रूप में सेवायें प्रदान की। तद्पश्चात 01 फरवरी 1980 से 30 जून 2000 तक 20 वर्ष 04 माह 29 दिन पूर्व प्रधानाचार्य मेजर एम0सी0 त्यागी जी ने एनसीसी का कार्यभार सम्भाला। इसके पश्चात 01 जुलाई 2000 से वर्तमान समय में मेरे द्वारा एनसीसी के दायित्वों का अविरल निर्वहन किया जा रहा है। एनसीसी में छात्रों की अभिरूचि निरन्तर बढ़ने के कारण विद्यालय मंे एक अतिरिक्त प्लाटून की वृद्धि की गयी। सन् 1980 के पश्चात 160 कैडेटों की एक कम्पनी की स्वीकृति प्राप्त हुई, तब से अविरल विद्यालय की राष्ट्रीय कैडेट कोर यूनिट ने प्रगति के अनेकों सौपान पार किये हैं तथा विद्यालय में एन.सी.सी. के अभूतपूर्व कार्य को देखते हुए 31 उत्तराखण्ड बटालियन एन0सी0सी0 वाहिनी, हरिद्वार द्वारा कैडेटों की संख्या 177 तक बढ़ाया गया है। वर्तमान में विद्यालय से बी एवं सी सर्टीफिकेट परीक्षा उत्तीर्ण कर एनसीसी कैडेट्स भारतीय सेना, पुलिस बल, पैरा मिलिट्री सहित अनेक विभागों में चयनित होकर सेवायें दे रहे हैं। 

समय समय पर विद्यालय के एनसीसी कैडेट्स द्वारा विभिन्न शिविर/कैम्प- 
वार्षिक प्रशिक्षण शिविर  
 आर्मी अटेचमेंट कैम्प  
  संयुक्त वार्षिक प्रशिक्षण शिविर
  आई0सी0सी0 कैम्प
थल सैनिक शिविर 
    रेगुलर आर्मी अटैचमेन्ट कैम्प  
 पूर्व गणतंत्र दिवस शिविर  
 गणतंत्र दिवस शिविर
पर्वतारोहण शिविर    
राष्ट्रीय एकता शिविर 
  स्वतंत्रता दिवस शिविर(खेलकूद)
अखिल भारतीय  ग्रीष्मकालीन शिविर 
  समाज सेवा शिविर  
 एडवांस नेतृत्व शिविर आदि में प्रतिभाग किया जाता है। 

 विद्यालय के एनसीसी कैडेट्स को गणतंत्र दिवस परेड, राष्ट्रीय खेलकूद में प्रतिभाग का अवसर प्राप्त हुआ है साथ ही कैडेट्स को बेस्ट केडेट अवार्ड से भी नवाजा गया है। इसके अतिरिक्त कैडेट्स को सहारा इण्डिया द्वारा छात्रवृत्ति एवं मुख्यमंत्री छात्रवृत्ति भी प्राप्त हुई हैं। एनसीसी कैडेट्स गंगा स्वच्छता एवं पर्यावरण सुरक्षा, रक्तदान,पल्स पोलियो, वृ़क्षारोपण, उत्तराखण्ड मंे आयी प्रकृतिक आपदा-उत्तरकाशी, केदारनाथ, यमकेश्वर ब्लाॅक, गुरूद्वारा श्री हेमकुण्ड साहिब मेनेजमेंट ट्रस्ट द्वारा आयोजित स्वास्थ्य जांच शिविर, स्वच्छता अभियान, विश्वयोग दिवस के उपलक्ष्य पर योगासन, कांवड़ मेला में पुलिस विभाग के साथ यातायात नियंत्रण में सहभागिता, सामाजिक कुरीतियों का उन्मूलन अभियान, बेटी बचाओ -बेटी पढ़ाओं अभियान, प्रौढ़ शिक्षा, बिजली बचाओ पानी बचाओ अभियान आदि सामाजिक कार्योें में सहयोग प्रदान करते हैं। 

विद्यालय में एन.सी.सी. के 55 वर्षों के क्रिया-कलापों पर दृष्टिपात करें तो कैडेटों ने इस विधा के द्वारा श्रेष्ठ भविष्य निर्माण कर परिवार एवं संस्था का नाम रोशन किया है।